रांची सहित पांच जिलों में दर्ज हैं 29 मामले, पीएलएफआई का सब जोनल कमांडर गिरफ्तार

रांची: रांची पुलिस ने प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई) के दुर्दांत सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव और तूफान जी उर्फ सुल्तान जी को गिरफ्तार किया है।

इसके पास से पुलिस ने एक देशी कारबाईन मैगजीन लगा हुआ, नाइन एमएम का 13 पीस जिंदा गोली, केमोफ्लाइ टीशर्ट एवं टोपी, एक कंबल , एक पिट्ठू बैग, विभिन्न तरह की दवाइयां, रोजमर्रा में प्रयोग में लाई जाने वाली साबुन तेल आदि, केमोफ्लाइ पाउच और प्रतिबंधित पीएलएफआई संगठन का लेटर पैड बरामद किया गया हैं।

गुप्त सूचना के आधार पर पकड़ा गया पीएलएफआई सब जोनल कमांडर

रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने गुरुवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि नक्सल गतिविधि की रोकथाम को लेकर रांची पुलिस लगातार सीमावर्ती इलाके में अभियान चला रही है।

इसी क्रम में गुप्त सूचना के आधार पर लोहरदगा जिला के सेन्हा थाना अंतर्गत साके गढ़ टोली गांव से स्थानीय पुलिस के सहयोग से छापेमारी कर पीएलएफआई का दुर्दांत सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ तूफान जी उर्फ सुल्तान जी को गिरफ्तार किया गया है।

तूफान जी की गिरफ्तारी के बाद से पीएलएफआई संगठन को बड़ा झटका लगा है।

रांची सहित पांच जिलों में दर्ज है कृष्णा यादव पर कुल 29 कांड

एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि गिरफ्तार पीएलएफआई के दुर्दांत सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव पर 5 जिलों में कुल 29 मामले दर्ज है।

यह सभी मामले रांची, लातेहार, लोहरदगा, चतरा और हजारीबाग जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में शामिल है।

गिरफ्तार तूफान विकास कार्यों के संवेदकको, ईट भट्ठा मालिकों, व्यवसायियों के बीच लेवी वसूलने एवं विभिन्न कोलियरी में आगजनी की घटना कारित कर आतंक का पर्याय बना हुआ था।

गिरफ्तार उग्रवादी तूफान के निशानदेही पर चान्हो थाना क्षेत्र के नकटा पहाड़ के पास से देसी ऑटोमेटिक कार्बाइन लोडेड और जिंदा गोली बरामद किया गया है। इस संबंध में चाहो थाना में मामला दर्ज किया गया है।

छापेमारी टीम में ये थे शामिल

एसएसपी ने बताया कि छापेमारी टीम में खलारी डीएसपी मनोज कुमार, लोहरदगा डीएसपी मुख्यालय परमेश्वर प्रसाद, चान्हो थाना प्रभारी दिलेश्वर कुमार, मांडर थाना प्रभारी राणा जंग बहादुर सिंह, सेन्हा थाना प्रभारी सूरज प्रसाद, एएसआई तकनीकी शाखा शाह फैसल, प्रभाष दास, एसएसपी की क्यूआरटी टीम और खलारी सैट सशस्त्र बल शामिल थे।

बता दें कि एक दिसम्बर को पीएलएफआई संगठन ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की थी जिसमें यह लिखा गया था कि अगर जल्द ही उनके साथियों की गिरफ्तारी को सार्वजनिक नहीं की जाती है तो वे झारखंड बंद का ऐलान करेंगे।

प्रेस विज्ञप्ति पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप के नाम से जारी किया गया था। गोप ने दावा किया था कि कृष्णा समेत चार पीएलएफआई उग्रवादियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

पुलिस अगर 12 घंटे के अंदर उन्हें कोर्ट में पेश नहीं किया तो पीएलएफआई झारखंड बंद कराएगी। हालांकि उस दिन रांची पुलिस ने गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की थी।

Recent Post

Live Cricket Update

You May Like This